बुधवार, 21 मई 2008

हॉकी टीम को बधाई. अगली बार फाईनल जीतना है!

शायद के पी एस गिल के जाने के साथ ही किस्मत फ़िर से हमारी हॉकी पर मेहरबान होने लगी है! अब बारह साल बाद अजलान शाह कप के फाईनल में प्रवेश करने को आप क्या कहेंगे। बिल्कुल नए खिलाड़ियों से सजी यह टीम फाईनल में अर्जेंटीना से २-१ से हारी वो भी गोल्डेन गोल के ज़रिये।

IPL से मंत्रमुग्ध हिन्दी मीडिया को तो शायद याद भी नहीं कि हॉकी भी कोई खेल होता है, पर हम सब की तरफ़ से हॉकी टीम को बहुत बहुत बधाई। अब उम्मीदें बढ़ा दी हैं, तो उन पर खरे भी उतरना और अगली बार फाईनल जीत के आना!

5 टिप्‍पणियां:

googol ने कहा…

हाँ! बधाई भी और All the best भी
साथ ही हम नए खिलाड़ियों के उज्जवल भविष्य की कामना करते हैं

googol ने कहा…

हे हे ... ये पढ़ कर बड़ा मज़ा आया:
आपकी टिप्पणी सहेज दी गई है और ब्लॉग स्वामी की स्वीकृति के बाद दिखने लगेगा. 

ब्लॉग स्वामी! हा हा :D

दिनेशराय द्विवेदी ने कहा…

आप का धन्यवाद। हॉकी में इम्प्रूवमेंट होगा ही। परिवर्तन हर जगह जरुरी होता है। पानी एक जगह अधिक देर रहे तो सड़ने लगता है।

Udan Tashtari ने कहा…

हमारी भी बधाई और शुभकामनायें.

Abhishek ने कहा…

दिनेश जी, परिवर्तन तो हमारी हॉकी में हो ही रहा था, बस थोड़ा नीचे की तरफ़! उम्मीद है कुछ बेहतर होगा अब।
- ब्लॉग स्वामी :)